1857/58 में बगदाद में निर्वासन के दौरान बहाउल्लाह द्वारा अरबी एवं फारसी में प्रकटित छोटे-छोटे अनुच्छेदों वाली एक कृति जिसका अंग्रेजी में अनुवाद शोगी एफेन्दी ने किया।