प्रार्थना और भक्तिमय जीवन